अंत है मेरा मुझमे ही,

कहाँ बचा हूँ अब मैं मुझ में ही।

क्या कर रहा हूँ मैं खुद,

किस और की आवाज़ पर चल रहा हूँ,

कहाँ छोड़ आया मैं खुदको ही खुद।

अंत है मेरा मुझमे ही,

कहाँ बचा हूँ अब मैं मुझमें ही।

Advertisements