जब वो आ जाए तो कहना

की हम उनके हो चुके हैं

अपनी साँसों की वसीयत उसके नाम कर चुके हैं

जब वो आ जाए तो कहना,

की हम उसके हो चुके है।
कह देना उनको की उनके गीले बालो के छीटें गिरी है मेरे दिल पर

और हम सोंधी सी खुशबू हो चुके हैं,

की अब हम उनके हो चुके हैं।

वक्त की साज़िस है कि वो मिलता नही हमसे,

तुमको मुझसे मिलाने के लिए,

वक्त के पीछे हम इतने भागे तेरे लिए

की अब हम घडी की सुई हो चुके।

मेरी हाथों की ये जो लकीरें है,

वो अब हमारी सरहद हो चुके,

इसी लिए कभी हम उन तक न जा सके

और न वो हम तक आ सके,

वो आ जाए तो कहना,

हम उनके हो चुके।

हम उनके हो चुके।।

Advertisements